ज्ञानकलश स्कूल में आयोजित हुई ठोस कचरा प्रबन्धन सेमिनार

सहारनपुर – 10 अगस्तद सहारनपुर डॉट कॉम द्वारा ज्ञानकलश इंटरनेशनल स्कूल सहारनपुर में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए सहारनपुर नगर विधायक व पूर्व राज्यमंत्री संजय गर्ग ने ठोस कचरे और पॉलीथिन की विकराल समस्या के बारे में श्रोताओं को चेताते हुए कहा कि ठोस कचरा और पॉलीथिन अब सिर्फ एक शहर की सुन्दरता या सफाई का मामला नहीं रह गये हैं बल्कि ये अब मानव जाति के अस्तित्व का सवाल बन गया है।  श्री गर्ग ने आगे कहा कि कोई भी सरकार या प्रशासनिक अमला इस समस्या से अकेले नहीं निबट सकता, इसमें हम सभी को अपने अपने स्तर पर प्रयास करने होंगे।  यदि हम इस जिम्मेदारी से निगाहें चुरायेंगे तो अपना ही अस्तित्व खतरे में डालेंगे।“   पूर्व राज्यमंत्री संजय गर्ग ने दिल्ली में स्थान स्थान पर खड़े होगये कूड़े – कचरे के पहाड़ों का उदाहरण देते हुए कहा कि ये हमारे नीति निर्माताओं की नासमझी के स्मारक हैं।  गाज़ीपुर सड़क के किनारे खाली मैदान को डंपिंग ग्राउंड बना कर कुछ वर्ष पहले वहां कूड़ा डालना आरंभ किया गया था और कूड़े पर कूड़ा पड़ते पड़ते स्थिति यह हो गयी है कि आज ये कूड़ा एक पहाड़ की शक्ल ले चुका है जिस पर कूड़े के ट्रक कूड़ा फेंकने के लिये जाते हैं।  यही स्थिति दिल्ली में सीलमपुर की भी है।
 अगर सहारनपुर वासी अपने कूड़े का वैज्ञानिक निष्पादन करना नहीं सीखेंगे तो वह दिन दूर नहीं जब यही स्थिति हमें अपने शहर में भी देखने को मिलेंगे।  उन्होंने द सहारनपुर डॉट कॉम के द्वारा ठोस कचरा प्रबन्धन के बारे में चलायी जा रही इस मुहिम में हर प्रकार से सहयोग देने का आश्वासन दिया।

इस अवसर पर ज्ञानकलश स्कूल के संस्थापक संजय गर्ग, अध्यक्ष डा. योगेश कुमार गुप्ता, सचिव रवि सिंहल ने विद्यालय परिसर को पोलिथिन मुक्त क्षेत्र घोषित करते हुए सभी छात्र – छात्राओं और स्टाफ को निर्देश दिये कि विद्यालय परिसर में कल से पोलीथिन में कुछ भी सामान लेकर आना निषिद्ध रहेगा।   छात्र-छात्राओं ने भी हाथ खड़े करके इस मुहिम में उत्साह सहित भाग लेने का वचन दिया।

विशिष्ट अतिथि के रूप में नगर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी डा. जे.एस. रमन ने कहा कि नगर निगम सहारनपुर में स्थानान्तरण होने के बाद से वह निरन्तर इस बात को लेकर प्रयासरत हैं कि सड़कों पर कहीं भी कूड़ा न तो फेंका जाये और न ही पड़ा हुआ दिखाई दे। एक चिकित्सक होने के नाते वह सड़कों पर फेंके जा रहे कूड़े से होने वाली बीमारियों को लेकर विशेष रूप से चिंतित हैं। उन्होंने इस बात के लिये द सहारनपुर डॉट कॉम पोर्टल की भूरि भूरि प्रशंसा की कि ये संस्था स्थान – स्थान पर जाकर नगरवासियों को प्रेरणा दे रहा है और कचरा प्रबन्धन के बारे में नगर निगम की पूरे मनोयोग से सहायता कर रहा है।

उल्लेखनीय है कि द सहारनपुर डॉट कॉम द्वारा विभिन्न कॉलोनियों और स्कूलों में ठोस कचरा प्रबन्धन के बारे में जन जागृति फैलाने के उद्देश्य से नियमित अंतराल पर गोष्ठियां आयोजित की जा रही हैं।  आज ज्ञानकलश स्कूल में सीनियर छात्र – छात्राओं व स्टाफ के लिये ऐसी ही एक गोष्ठी में द सहारनपुर डॉट कॉम के संस्थापक अध्यक्ष सुशान्त सिंहल द्वारा ’कचरे से दौलत तक’ विषय पर बनाया गया वृत्त चित्र दिखाया गया जिसके बाद ठोस कचरा प्रबन्धन के मामले में सहारनपुर में दृष्टिगोचर हो रही चुनौतियों व उनके समाधान को लेकर गहन चर्चा की गयी  जिसमें छात्र-छात्राओं ने बड़ी परिपक्व मानसिकता का परिचय देते हुए उत्साह सहित भाग लिया।  उपस्थित श्रोताओं के साथ प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम भी आयोजित किया गया ताकि कचरा प्रबन्धन जैसे वैज्ञानिक विषय को सरलता से समझाया जा सके।

7 Comments

  1. Wonderful items from you, man. I have have in mind your stuff prior to and you’re
    simply too great. I actually like what you have obtained here, certainly
    like what you are saying and the way during which you are saying it.
    You’re making it enjoyable and you continue to care for to keep it smart.
    I cant wait to read much more from you. This is really a great
    site.

  2. Hello all, here every one is sharing such familiarity, thus it’s good to read this web site, and I used to pay a visit this
    blog all the time.

  3. I am really enjoying the theme/design of your web site.
    Do you ever run into any internet browser compatibility problems?
    A handful of my blog audience have complained about my
    site not working correctly in Explorer but looks great in Chrome.

    Do you have any ideas to help fix this issue?

  4. Thank you for the good writeup. It in reality used to be a
    entertainment account it. Glance complicated to far delivered agreeable from
    you! However, how could we be in contact?

  5. Ekstra jidi slot terbesar yaitu 0, 5 tunjangan daripada
    semua rakitan game slot, dihitung bertolak di turn over,
    menang maupun kalah.

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*